Oct 29
धूम- धड़ाके को तैयार 'जुगल बंदियां'
आज समाज: 'जुगल बंदियां' बैंड ने लड़कियों के द्वारा लोगों का मनोरंजन करने की शुरुआत की है। यह एक ऐसा बैंड है जिसमें प्रीति, शालू और रेशमा तीन लड़कियां शामिल हैं। तीनों संगीत और गायन में प्रशिक्षित प्रतिभाशाली सिंगर हैं और उन्होंने एक साथ आते हुए ग्रुप बनाया है और वे प्रस्तुतियाँ देने के लिए तैयार हैं। बीते दशकों में ये शायद पहली बार है कि इस तरह का एक बैंड भारतीय पॉप के मंच में धूम धड़ाके के साथ सामने आ रहा है।
Oct 29
जुगल बंदियां : तीन प्रतिभाशाली पॉप सिंगर लड़कियों का ‘जुगल बंदियां’ ग्रुप मचाएगा धमाल
अजीत समाचार: 'जुगल बंदियां'!! एक ऐसा शब्द है जो कि अपने आप में भी सब कुछ कह देता है।'जुगल बंदियां', लड़कियों का ग्रुप है जिसमें तीन बंदियां शामिल हैँ जिनमें प्रीति, शालू और रेशमा शामिल हैँ। तीनों संगीत और गायन में प्रशिक्षित प्रतिभाशाली सिंगर हैं और उन्होंने एक साथ आते हुए ग्रुप बनाया है और वे प्रस्तुतियां देने के लिए तैयार हैं। बीते दशकों में ये शायद पहली बार है कि इस तरह का एक बैंड भारतीय पॉप के मंच में धूम धड़ाके के साथ सामने आ रहा है।
Oct 29
पुराने फिल्मी गीतों को नए अंदाज़ में पेश करेंगी ‘जुगलबंदियां’
अमर उजाला: तीन युवतियों की ओर से बनाया गया बैंड 'जुगलबन्दियां' ने भारतीय पॉप के क्षेत्र में कदम रखा है। इन युवतियों में प्रीति, शालू और रेशमा शामिल हैं। मंगलवार को चंडीगढ़ में पत्रकारों से रूबरू होते हुए उन्होंने कहा कि अब बॉलीवुड उनका लक्ष्य है। इसके लिए उन्होंने 60 और 70 के दशक के दौर की फिल्मों के बेहद लोकप्रिय गीतों को अपने अंदाज़ में तैयार कर जुगल बंदियों के तौर पर प्रस्तुत किया है।
Oct 29
Girl Power
Daily Post: How often have you come across an all girl music band? Delhi-based Jugal Bandiyan is an all girl pop ensemble, which is possibly the first in a decade, tells us singer Preeti Nagrajan who along with Reshma Das and Shalu Mehra was in Chandigarh on Tuesday to talk about their band. While the three Bandiyan have different musical inclinations, what brings them together is their love for music and passion to make it big in the world of music.
Oct 29
हर गाने में रहती है इन तीनों की जुगलबंदी
दैनिक भास्कर: सांग्स कोई भी हो। चाहे पुराने हों या फिर आजकल के। मेल आवाज़ हो या फिर फीमेल। इन सभी को प्रीति, रेशमा और शालू ऐसे सुनाती हैं जैसे इन्ही की कंपोजिशन हो। अपनी इसी ट्यूनिंग को इन तीनों ने 'जुगल बंदियां' बैंड का नाम दिया है । यह दिल्ली बेस्ड बैंड है। इनमें तीन फीमेल मेंबर्स हैं। प्रीति, रेशमा और शालू।
Oct 29
In Perfect Sync
The Tribune: It all started with Preeti Nagarajan's dream - to have an all-girls gang living their three passions - singing, dancing and eating! And, so was born Jugal Bandiyan. Together for a couple of months, Preeti, Reshma Das and Shalu Mehra have been singing in and around Delhi, and aim to go pan-India pretty soon.
Oct 29
सिर्फ काम पर होता है फोकस
पंजाब केसरी: महिला डी.जे. को देखकर लोग हो जाते हैं सरप्राइज। अब महिलाएं नाईट पार्टी में बैंड परफॉरमेंस की चुनौतियों का सामना करने के लिए सामने आ रही हैं। मंगलवार को सैक्टर -17 स्थित होटल में जुगलबंदियां बैंड की प्रोमोशन के लिए प्रीति, शालू व रेशमा पंहुचीं। प्रैस वार्ता में इन तीनों ने इस फील्ड में आ रही मुश्किलों के बारे में बताया। प्रीति नागराजन ने बताया कि अक्सर लोग सोचते हैं कि महिलाओं के लिए सिर्फ चुनिंदा जॉब्स ही हैं लेकिन यह सच नहीं है। समय बदल चुका है और ऐसी कोई जॉब नहीं है जो पुरुष कर सकता है और महिला नहीं। जब मैंने मम्मी पापा से अपना आईडिया शेयर किया कि मैं बैंड बनाने की सोच रही हूँ, जिसमें सिर्फ लड़कियां परफोर्म करेंगी तो उन्होंने बिना कोई आपत्ति जाहिर करते हुए परमिशन दे दी। रात के वक्त, रंग बिरंगी रोशनी में, नशे में झूमते लोग और उनके लिए म्यूजिक प्ले करती महिला डी. जे. का काम करना काफी मुश्किल था। लोग अक्सर नशे में झूमते हुए गलत कमैंट भी कर देते हैं लेकिन पार्टी में हमारा फोकस सिर्फ काम पर होता है।
Oct 29
ਜੁਗਲ੍ਬੰਦੀਆਂ ਦੇ ਕਲਾਕਰ ਚੰਡੀਗੜ ਪੁਹੰਚੇ
ਪੰਜਾਬੀ ਜਾਗਰਣ: ਜੁਗਲ੍ਬੰਦੀਆਂ  ਭਾਰਤ ਦੀ ਰਾਜਧਾਨੀ ਦਿੱਲੀ ਨਾਲ ਸੰਭੰਧਿਤ ਇਕ ਅਜੇਹਾ ਗਰੁਪ ਹੈ , ਜਿਸ ਵਿਚ ਸ਼ਾਮਲ ਪਰੀਤੀ ਨਾਗ੍ਰਾਜਨ , ਰੇਸ਼ਮਾ ਦਾਸ , ਅਤੇ ਸ਼ਾਲੂ ਮੇਹਰਾ ਤਿੰਨੋ  ਚੜਦੀ ਉਮਰ ਦੀਆ ਗਾਇਕਾਵਾਂ ਹਨ। ਇਹ ਤਿੰਨੋ ਕਲਾਕਾਰਾਂ ਹੀ  ਗਾਇਕੀ ਦੀ ਲਬਰੇਜ਼ ਹਨ। ਇਹ ਤਿੰਨੇ ਗਾਇਕਾਵਾਂ ਆਪਣੇ ਗਰੁਪ ਜੁਗਲ੍ਬੰਦੀਆਂ ਦੀ ਪੇਰ੍ਮੋਸ਼ਨ ਵਾਸਤੇ ਚੰਡੀਗੜ ਦੇ ਹੋਟਲ ਪਾਰਕ ਪਲਾਜ਼ਾ ਸੇਕ੍ਟਰ 17 ਚ ਪੁਜੀਆਂ।